Thursday 21 January 2021, 04:40 PM
अमेरिका-भारत का पाक समर्थित आतंकी समूहों के खिलाफ ठोस कार्रवाई का संकल्प
By आईएएनएस | Bharat Defence Kavach | Publish Date: 9/11/2020 3:58:55 PM
अमेरिका-भारत का पाक समर्थित आतंकी समूहों के खिलाफ ठोस कार्रवाई का संकल्प

नई दिल्ली/वाशिंगटन: अमेरिका और भारत ने संयुक्त रूप से पैन-इस्लामिक आतंकवादी समूह -- अलकायदा और इस्लामिक स्टेट (आईएस), कश्मीर केंद्रित पाकिस्तान प्रायोजित संगठनों, लश्कर-ए-तैयबा (एलईटी), जैश-ए-मोहम्मद (जेईएम) और हिज्बुल मुजाहिदीन (एचयूएम) के खिलाफ ठोस कार्रवाई करने का संकल्प लिया है। गुरुवार को एक संयुक्त बयान में, दोनों पक्षों के 'यूएस-इंडिया काउंटर टेररिज्म जॉइंट वर्किं ग ग्रुप' और डेजिगनेशन डॉयलॉग ने छद्म आतंतकवाद का इस्तेमाल करने और सभी रूपों में सीमा पार आतंकवाद की कड़ी निंदा की।

संयुक्त राष्ट्र द्वारा स्वीकृत आतंकवादी संस्थाओं द्वारा उत्पन्न खतरों पर चर्चा करते हुए, दोनों पक्षों ने अल कायदा, आईएस, लश्कर, जेईएम, और एचयूएम सहित सभी आतंकवादी नेटवर्क के खिलाफ ठोस कार्रवाई की आवश्यकता पर जोर दिया।यूएस-इंडिया काउंटर टेररिज्म जॉइंट वर्किं ग ग्रुप की 17 वीं बैठक और यूएस-इंडिया डिजाइनिंग डायलॉग के तीसरे सत्र का बुधवार और गुरुवार को वर्चुअल रूप से आयोजन किया गया, जिसके बाद यह बयान आया।

विदेश मंत्रालय में काउंटर टेररिज्म के संयुक्त सचिव और काउंटर टेररिज्म के लिए अमेरिकी विदेश विभाग के समन्वयक राजदूत नाथन ए. सेल्स ने आतंकवाद से निपटने को लेकर सहयोग करने के संबंध में एक बातचीत में संबंधित अंतर-एजेंसी/अंतर-विभागीय प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व किया।

दोनों पक्षों ने आतंकवाद के खिलाफ व्यापक समन्वय जारी रखने का संकल्प लिया। उन्होंने आतंकवादी समूहों और व्यक्तियों के खिलाफ प्रतिबंधों को आगे बढ़ाने के लिए अपनी प्राथमिकताओं और प्रक्रियाओं के बारे में जानकारी साझा की, विशेष रूप से भारत में हाल के विधायी परिवर्तनों के संदर्भ में।

दोनों देशों ने यह सुनिश्चित करने के लिए पाकिस्तान द्वारा तत्काल, निरंतर, और अपरिवर्तनीय कार्रवाई करने की आवश्यकता को यह सुनिश्चित करने के लिए रेखांकित किया कि उसके नियंत्रण वाले किसी भी क्षेत्र का इस्तेमाल आतंकवादी हमलों के लिए नहीं किया जाए और 26/11 मुंबई हमले और पठानकोट जैसे हमलों के अपराधियों को शीघ्रता से न्याय के कठघरे में लाया जाए।

अमेरिका ने आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में भारत के लोगों और सरकार के प्रति अपना समर्थन दोहराया।संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के प्रस्ताव 2396 में उल्लिखित महत्वपूर्ण प्रावधानों और दायित्वों के अनुरूप अंतरराष्ट्रीय आतंकवादियों की यात्रा करने की क्षमता को बाधित करने के लिए सूचना साझा करने और अन्य कदमों पर सहयोग को मजबूत करने के लिए दोनों पक्षों ने प्रतिबद्धता जताई।

प्रतिभागियों ने आतंकवाद के संगठनों के वित्तपोषण और संचालन का मुकाबला करने, इंटरनेट के कट्टरपंथीकरण और आतंकवादी उपयोग, आतंकवादियों के क्रॉस-बॉर्डर आंदोलन और अभियोजन, पुनर्वास, और वापस लौटने पर प्रतिबंध लगाने सहित दुनिया की कुछ सबसे अधिक दबाव वाली काउंटर आतंकवाद चुनौतियों को संबोधित करने के अपने प्रयासों पर प्रकाश डाला। दोनों पक्षों ने आपसी कानूनी और प्रत्यर्पण सहायता, द्विपक्षीय कानून प्रवर्तन प्रशिक्षण और सहयोग पर भी चर्चा की।

Tags:

अमेरिका,भारत,इस्लामिक,स्टेट,आईएस,कश्मीर,केंद्रित,पाकिस्तान,एलईटी,जेईएम

DEFENCE MONITOR

भारत डिफेंस कवच की नई हिन्दी पत्रिका ‘डिफेंस मॉनिटर’ का ताजा अंक ऊपर दर्शाया गया है। इसके पहले दस पन्ने आप मुफ्त देख सकते हैं। पूरी पत्रिका पढ़ने के लिए कुछ राशि का भुगतान करना होता है। पुराने अंक आप पूरी तरह फ्री पढ़ सकते हैं। पत्रिका के अंकों पर क्लिक करें और देखें। -संपादक

Contact Us: 011-66051627

E-mail: bdkavach@gmail.com

SIGN UP FOR OUR NEWSLETTER
NEWS & SPECIAL INSIDE !
Copyright 2018 Bharat Defence Kavach. All Rights Resevered.
Designed by : 4C Plus